Home remedy and quick treatment of overeating | भस्मक रोग से बचाव और असरदार घरेलू नुस्खे

भस्मक रोग (Over eating)

परिचय:-

भस्मक रोग एक प्रकार का ऐसा रोग है जिसमें रोगी हर समय खाता ही रहता है। रोगी जितना भी खाना खा ले उसे ऐसा लगता है कि उसने अभी तो कुछ भी नहीं खाया है और वह बहुत अधिक खाने लगता है।

भस्मक रोग के लक्षण:-

इस रोग के कारण रोगी व्यक्ति को बहुत अधिक भूख लगती है तथा वह थोड़ी-थोड़ी देर के बाद कुछ न कुछ खाने के लिए मांगता रहता है।

भस्मक रोग का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार:-

इस रोग का उपचार करने के लिए सबसे पहले रोगी व्यक्ति को एनिमा क्रिया के द्वारा पेट साफ करना चाहिए और इसके बाद दिन में 2 बार कटिस्नान करना चाहिए।
रात को सोते समय रोगी को अपनी कमर पर भीगी पट्टी लगाकर कुछ समय के लिए सोना चाहिए। ऐसा कुछ दिनों तक लगातार करने से भस्मक रोग ठीक हो जाता है।
इस रोग का इलाज प्राकृतिक चिकित्सा से करने के लिए सबसे पहले रोगी को कुछ दिनों तक रसाहार तथा फलाहार भोजन करना चाहिए और इसके बाद धीरे-धीरे सामान्य भोजन करना चाहिए।
भस्मक रोग को ठीक करने के लिए आसमानी रंग की बोतल के सूर्यतप्त जल को लगभग 50 मिलीलीटर की मात्रा में प्रतिदिन 8 बार रोगी को सेवन कराना चाहिए। इससे रोगी का रोग कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है।

Over eating introduction:-

Incubation is a type of disease in which the patient keeps on eating all the time. Any person who eats food, it seems that he has not eaten anything yet and he eats too much.

Symptoms of Incubation: –   

Due to this disease, the patient feels very hungry and he keeps asking for something to eat after a while.

Treatment of incidence of natural cure: –

In order to treat this disease, the patient should first clean the stomach with an enema, and after this it should be cut twice in a day.

While sleeping at night, the patient should sleep for some time after laying a damp band on his waist. By doing it for a few days continuously, the incidence of incidence is cured. In order to treat this disease with natural healing, the patient should first consume carnivorous and fruitful foods for a few days and after this, gradually normal food should be done.

In order to cure incision, the patient should take 8 liters of water daily in the amount of about 50 ml of sunlight in the sky. This causes the patient’s disease to cure within a few days.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *