Home remedy of diabetes मधुमेह के असरदार घरेलू उपाय

Posted by

बदलता परिवेश और रहन-सहन शहर में मधुमेह के मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा कर रहा है। खान-पान पर नियंत्रण न होना भी इसके लिए जिम्मेदार है। डायबिटीज के मरीज को सिरदर्द, थकान जैसी समस्याएं हमेशा बनी रहती हैं। मधुमेह में खून में शुगर की मात्रा बढ जाती है। वैसे इसका कोई स्थायी इलाज नहीं है। परंतु जीवनशैली में बदलाव, शिक्षा तथा खान-पान की आदतों में सुधार द्वारा रोग को पूरी तरह नियंत्रित किया जा सकता है।

Changing environments and living conditions are increasingly increasing the number of diabetic patients in the city. Due to lack of control over food, it is also responsible for it. Diabetes patients always have problems like headaches and fatigue. The amount of sugar in the blood increases in diabetes. Well it is not a permanent treatment. But the disease can be fully controlled by changing lifestyle, improving education and eating habits.


मधुमेह लक्षण :——

1. बार-बार पेशाब आना।
2. बहुत ज्यादा प्यास लगना।
3. बहुत पानी पीने के बाद भी गला सूखना।
4. खाना खाने के बाद भी बहुत भूख लगना।
5. मितली होना और कभी-कभी उल्टी होना।
6. हाथ-पैर में अकड़न और शरीर में झंझनाहट होना।
7. हर समय कमजोरी और थकान की शिकायत होना।
8. आंखों से धुंधलापन होना।
9. त्वचा या मूत्रमार्ग में संक्रमण।
10. त्वचा में रूखापन आना।
11. चिड़चिड़ापन।
12. सिरदर्द।
13. शरीर का तापमान कम होना।
14. मांसपेशियों में दर्द।
15. वजन में कमी होना।

Diabetes Symptom: ——

1. Repeated urination.

2. Too much thirsty.

3. Drying throat after drinking too much water.

4. Very hungry after eating food too.

5. Being niggling and sometimes vomiting

6. Stiffness in the hands and feet and raging in the body.

7. Complain of weakness and fatigue all the time.

8. Blurring with eyes

9. Infections in the skin or urethra

10. Stupidity in the skin.

11. Irritability.

12. Headache.

13. Lower body temperature

14. Muscle pain.

15. Weight loss

यहाँ मधुमेह को नियंत्रण करने के कुछ आसन से घरेलू उपाय:—-

*तुलसी के पत्तों में ऐन्टीआक्सिडन्ट और ज़रूरी तेल होते हैं जो इनसुलिन के लिये सहायक होते है । इसलिए शुगर लेवल को कम करने के लिए दो से तीन तुलसी के पत्ते को प्रतिदिन खाली पेट लें, या एक टेबलस्पून तुलसी के पत्ते का जूस लें।

*10 मिग्रा आंवले के जूस को 2 ग्राम हल्दी के पावडर में मिला लीजिए। इस घोल को दिन में दो बार लीजिए। इससे खून में शुगर की मात्रा नियंत्रित होती है।

*काले जामुन डायबिटीज के मरीजों के लिए अचूक औषधि मानी जाती है। मधुमेह के रोगियों को काले नमक के साथ जामुन खाना चाहिए। इससे खून में शुगर की मात्रा नियंत्रित होती है।

*लगभग एक महीने के लिए अपने रोज़ के आहार में एक ग्राम दालचीनी का इस्तेमाल करें, इससे ब्लड शुगर लेवल को कम करने के साथ वजन को भी नियंत्रण करने में मदद मिलेगी।

*करेले को मधुमेह की औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसका कड़वा रस शुगर की मात्रा कम करता है।अत: इसका रस रोज पीना चाहिए। उबले करेले के पानी से मधुमेह को शीघ्र स्थाई रूप से समाप्त किया जा सकता है।

*मधुमेह के उपचार के लिए मैथीदाने का बहुत महत्व है, इससे पुराना मधुमेह भी ठीक हो जाता है। मैथीदानों का चूर्ण नित्य प्रातः खाली पेट दो टी-स्पून पानी के साथ लेना चाहिए ।

*काँच या चीनी मिट्टी के बर्तन में 5-6 भिंडियाँ काटकर रात को गला दीजिए, सुबह इस पानी को छानकर पी लीजिए।

*मधुमेह मरीजो को नियमित रूप से दो चम्मच नीम और चार चम्मच केले के पत्ते के रस को मिलाकर पीना चाहिए।

*ग्रीन टी भी मधुमेह मे बहुत फायदेमंद मानी । जाती है ग्रीन टी में पॉलीफिनोल्स होते हैं जो एक मज़बूत एंटी-ऑक्सीडेंट और हाइपो-ग्लाइसेमिक तत्व हैं, शरीर इन्सुलिन का सही तरह से इस्तेमाल कर पाता है।

*सहजन के पत्तों में दूध की तुलना में चार गुना कैलशियम और दुगना प्रोटीन पाया जाता है। मधुमेह में इन पत्तों के सेवन से भोजन के पाचन और रक्तचाप को कम करने में मदद मिलती है। इसके नियमित सेवन से भी लाभ प्राप्त होता है ।

*एक टमाटर, एक खीरा और एक करेला को मिलाकर जूस निकाल लीजिए। इस जूस को हर रोज सुबह-सुबह खाली पेट लीजिए। इससे डायबिटीज में बहुत फायदा होता है।

*गेहूं के पौधों में रोगनाशक गुण होते हैं। गेहूं के छोटे-छोटे पौधों से रस निकालकर प्रतिदिन सेवन करने से भी मुधमेह नियंत्रण में रहता है।

*मधुमेह के मरीजों को भूख से थोड़ा कम तथा हल्का भोजन लेने की सलाह दी जाती है। ऐसे में खीरा नींबू निचोड़कर खाकर भूख मिटाना चाहिए।

*मधुमेह उपचार मे शलजम का भी बहुत महत्व है । शलजम के प्रयोग से भी रक्त में स्थित शर्करा की मात्रा कम होने लगती है। इसके अतिरिक्त मधुमेह के रोगी को तरोई, लौकी, परवल, पालक, पपीता आदि का प्रयोग भी ज्यादा करना चाहिए।

*6 बेल पत्र , 6 नीम के पत्ते, 6 तुलसी के पत्ते, 6 बैगनबेलिया के हरे पत्ते, 3 साबुत काली मिर्च ताज़ी पत्तियाँ पीसकर खाली पेट, पानी के साथ लें और सेवन के बाद कम से कम आधा घंटा और कुछ न खाएं , इसके नियमित सेवन से भी शुगर सामान्य हो जाती है । 

Here are some tips for controlling diabetes with home remedies: —-

* Basil leaves contain antioxidants and essential oils which are helpful for insulin. Therefore, to reduce the sugar level, take two to three basil leaves on an empty stomach every day, or take a Tulsi Basil leaf juice.

* Mix 10 grams of gooseberry juice in 2 grams turmeric powder. Take this solution twice a day. This controls the amount of sugar in the blood.

* Black Jumun is considered to be the perfect medicine for diabetes patients. Diabetic patients should eat bamboo with black salt. This controls the amount of sugar in the blood.

* Use one gram cinnamon in your daily diet for approximately one month, reducing blood sugar levels will also help control weight.

* Bitter gourd is used as a medicine for diabetes. Its bitter juice reduces the amount of sugar. Therefore, its juice should be consumed daily. With boiled bitter water, diabetes can be permanently terminated.

* Fenugreek is very important for the treatment of diabetes, it also cures older diabetes. The powder of the methadone should be taken with two T-spoon water empty empty stomach in the morning.

* Cut 5-6 Bhindiis in the glass or ceramic pot and rub it in the night, filter this water in the morning and drink it.

* Diabetic patients should regularly drink two teaspoons neem and four teaspoons of banana leaves mixed together.

* Green tea is also very beneficial in diabetes. Green tea contains polyfinol, which is a strong anti-oxidant and hypo-glycemic element, allows the body to properly use insulin.

* Sahajan leaves contain four times calcium and double protein compared to milk. Consumption of these leaves in diabetes helps digestion of food and reducing blood pressure. Benefits from its regular consumption also benefits.

* Take a tomato, a cucumber and a bitter gourd and take out the juice. Take this juice in the morning and in the morning empty stomach. It has a lot of benefits in diabetes.

* Wheat plants contain diseased properties Acidity is also kept under control by consuming juice from small plants of wheat and consuming it daily.

* Diabetic patients are advised to take a little less hunger and take light meal. In this, hunger should be eaten by eating cucumber lemon after eating cucumber lemon.

* Turnip is also of great importance in diabetes treatment. The use of turnip also reduces the amount of sugar in the blood. Apart from this, diabetic patients should also use high sour, gourd, parwal, spinach, papaya etc.

* 6 bell paper, 6 neem leaves, 6 basil leaves, 6 green leaves of bagnabelia, grate fresh leaves with empty stomach, water and eat at least half an hour after eating and eat nothing; Sugar becomes normal even after regular consumption

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *