Quick home remedy of Loss of appetite भूख ना लगने की समस्या का घरेलू उपाय

Posted by

परिचय:-

हमारे द्वारा किया जाने वाला भोजन जब आमाशय में जाता है तो वह वहां जाकर आमाशय की अग्नि द्वारा ही पकता है। भोजन को जो अन्दर पचाकर रस बनाता है उसे जठराग्नि कहते हैं। शरीर में भोजन इसी के द्वारा पचता है परन्तु जब जठराग्नि कमजोर हो जाती है और भोजन को पचाने में असमर्थ हो जाती है तो व्यक्ति के अन्दर भूख का नाश हो जाता है अर्थात व्यक्ति को भूख नहीं लगती और शरीर में खून की कमी हो जाती है। इससे रोगी में सिर का दर्द, सिर का भारी होना तथा खून की कमी होने जैसे रोग उत्पन्न होने लगते हैं। इस रोग के कारण शरीर सूख जाता है तथा चेहरे पर उदासी व चमक में कमी आ जाती है।

introduction:-

When we go into the stomach, the food we eat, then it goes there and gets cooked by the fire of the stomach. The food that makes the juice inherent in the juice is called gastargani. The food in the body is digested by this, but when the gastrointestinal weakens and becomes unable to digest food, hunger is destroyed inside the person, that is, the person does not feel hungry and there is a lack of blood in the body. Due to this, diseases like headaches, headache, and blood loss occur in the patient. Due to this disease the body gets dry and there is a lack of gloom and glow on the face.

कारण-

इस रोग के उत्पन्न होने के अनेक कारण होते हैं। इस रोग को उत्पन्न होने का कारण अधिक मिर्च-मसाले वाला भोजन करना, अनियमित भोजन करना, कोई कार्य न करना, भोजन करने के बाद बैठना, कब्ज बनाने वाले भोजन का सेवन करना आदि है। कभी-कभी यह रोग अधिक वीर्य रस्खलन के कारण भी हो जाता है।

reason

There are several reasons for this disease to occur. The cause of this disease is to eat more chilli-spiced food, eat irregular food, do no work, sit after food, and consume food constipating etc. Occasionally this disease is also due to semen absorption.

जल चिकित्सा द्वारा रोग का उपचार-

मन्दाग्नि को दूर करने के लिए 1 दिन का उपवास रखना चाहिए। आंतों को साफ करना चाहिए और फिर उपवास करना चाहिए। इस रोग को दूर करने के लिए वीर्य की रक्षा करें।

Treatment of disease by water therapy-          
 To remove the stomach, one day fast should be kept. The intestines should be cleaned and then fasted. Protect the semen to remove this disease.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *